About Me

My photo
Your average fun guy who will stand by you!

Friday, February 24, 2012

मेरे हिस्से की ज़मीन (शहरयार)

"मेरे हिस्से की ज़मीन बंजर थी, मैं वाकिफ न था । 
बेसबब इलज़ाम मैं बरसात को देता रहा ।।" (शहरयार)

No comments:

Post a Comment